20 मिनट में चेहरे की त्वचा को गोरा बनाने का अचूक उपाय | Myrichbeauty.com - Beauty Tips In Hindi

सबका यह सपना होता है कि उसकी त्वचा बिना दाग धब्बों वाली हो और सामान रंग की हो कुछ ही लड़कियों की प्राकृतिक रूप से ऐसी त्वचा होती है और जिनकी त्वचा प्राकृतिक रूप से अच्छी नहीं होती वह अपनी त्वचा को सुधारने के लिए तरह-तरह के सौंदर्य प्रसाधनों का इस्तेमाल करते हैं ऐसे उत्पाद यह दावा करते हैं कि वह त्वचा पर अच्छी तरह से काम करते हैं पर ऐसा जरूरी नहीं है दुष्परिणाम भी दे सकते हैं हमें प्रकृति पर विश्वास करना चाहिए और घरेलू नुस्खों को अपनाकर अपनी त्वचा को चमकदार और गोरी रंगत का बनाना चाहिए आज इस आर्टिकल में मैं आपके साथ त्वचा को गोरा बनाने के घरेलू नुस्खे शेयर करूंगी

असमान रंगत के होने के कारण :-

  • अल्ट्रावायलेट किरणों की वजह से त्वचा का रंग सांवला होने लगता है
  • शरीर में विटामिन और मिनरल्स की कमी से त्वचा का रंग सांवला हो जाता है
  • किसी बीमारी से लंबे समय तक बीमार रहने से शरीर में आई कमजोरी से भी त्वचा का रंग सांवला हो जाता है
  • अधिक समय तक किसी दवाई के सेवन से भी त्वचा का रंग सांवला हो जाता है
  • धूम्रपान करने से भी त्वचा का रंग सांवला होता है
  • त्वचा का होना अनुवांशिकता पर भी निर्भर करता है
  • बढ़ती उम्र के साथ हार्मोनल चेंजेस की वजह से त्वचा सांवली हो जाती है

नुस्खा :-

  • एक चम्मच शहद
  • एक विटामिन ई का कैप्सूल
  • एक चम्मच गुलाबजल

विधि :-

सारी सामग्री को अच्छे से मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं 15 से 20 मिनट लगा रहने दें फिर हल्के गुनगुने पानी से चेहरे को धो लें  इस फेस पैक का प्रयोग आप हफ्ते में दो से तीन बार कर सकते हैं

शहद त्वचा को नमी देता है और त्वचा पर से अशुद्धियों को हटाकर गोरा बनाने में मदद करता है

विटामिन ई का कैप्सूल त्वचा को पोषण देता है और गोरा होने में मदद करता है

गुलाब जल टोनर का काम करता है और  त्वचा को सामान रंगत का बनाने का काम करता है

चेहरे की त्वचा को गोरा बनाने के अन्य उपाय :-

  • आवोकाडो को लेकर पीसकर बारीक बना लें। अच्छी तरह से पिसे हुए रुचिरा में गुनगुना पानी और शहद मिलाकर लेप बना लीजिये। अब आप इसे चेहरे पर लगा लें।10 मिनट बाद चेहरे पर गोल गोल हाथों को घुमाकर धो ले। रुचिरा विटामिन ई और विटामिन ए का अच्छा स्रोत है। रुचिरा चेहरे की झुर्रियों और चकत्तों को भी ठीक करने का अच्छा इलाज़ करता है।
  • विटामिन इ ऐसे गुणों से भरपूर है जो आपको चमकदार एवं जवान त्वचा प्रदान करते हैं। यह त्वचा पर रैशेस की समस्या को दूर करता है तथा आपको एक्ने और सूरज की हानिकारक किरणों से भी बचाता है। यह उम्र को छिपाने वाला एक बेहतरीन कारक है जो झुर्रियों और महीन रेखाओं को दूर करता है।
  • गाजर और अमरुद से कोलेजन के स्तर में काफी वृद्धि होती है। इस मास्क को बनाने के लिए गाजर और अमरुद को अच्छे से काटकर और पीसकर एक बेहतरीन पेस्ट बना लें। इस मास्क को चेहरे पर आधे घंटे के लिए रखें और फिर धो लें।
  • लौकी के गूदे, अंडे, शहद, दही, दालचीनी, टी ट्री ऑइल और विटामिन इ के तेल का प्रयोग किया जाता है। इन सबको अच्छे से एक पात्र में मिश्रित करके एक पेस्ट बनाएँ। लौकी के इस मास्क को अपने साफ चेहरे पर अपनी उँगलियों की मदद से लगाएं। इसे सूखने दें और फिर एक गीले सूती के कपड़े से पोंछ लें। इससे आपकी त्वचा के रोमछिद्र साफ़ होकर कसेंगे। इससे आपकी त्वचा नर्म और रेशमी बन जाएगी।
  • दलिया, शहद और आर्गन का तेल लें। दलिए को गर्म पानी में भिगोकर नर्म करें और फिर इसमें शहद और आर्गन तेल मिश्रित करें। इस पेस्ट को चेहरे पर अच्छे से लगाएं और 15 मिनट के लिए छोड़कर ठन्डे पानी से धो लें।यह त्वचा को नमी देता है और गोरा बनाने में सहायक होता है
  • कीवी के गूदे को लेकर उसमे अंडे की ज़र्दी और जैतून तेल को अच्छे से मिलायें। मिलाने पर यह  लेप का रूप ले लेगा। कीवी का गूदा त्वचा के लिये सफाई करने के कारक का कार्य करेगा। जैतून तेल में विटामिन ई होता है। इसे चेहरे पर लगाकर 10-15 मिनट तक सूखने के लिये छोड़ दें। फिर सूखे चेहरे को धो दे। ये सभी मिलकर आपकी त्वचा पर अच्छा परिणाम देंगे।
  • टमाटर का प्रयोग चेहरे की रंगत को गोरा बनाने के लिए किया जाता है. इसमें मौजूद साइट्रस    दाग और गहरे धब्बों को मिटाता है. इसके लिए टमाटर का रस निकाल लें और इसे चेहरे पर लगा कर सूखने दें. इसके बाद सादे पानी से चेहरा धो लें.
  • त्वचा का रंग निखारने के लिए सनस्क्रीन लोशन का नियमित उपयोग आदर्श समाधान में से एक है। त्वचा का कालापन और धुप से त्वचा जलना आम तौर से धुप में ज्यादा देर रहने से सूरज के किरणों से होता है। भले ही आप घर पर या बाहर रहे आपकी त्वचा सूर्य की अल्ट्रावायलेट किरणों से प्रभावित होती है। ये किरणें शरीर में मेलानिन को बढाकर त्वचा का एपिडर्मिस स्तर काला करने लगती और अंत में त्वचा काली पड़ जाती है। सनस्क्रीन लोशन में यूवीए और यूवीबी किरणों से लड़ने कि सामग्री शामिल है और आपकी त्वचा को प्रभावित करने से उन्हें रोक देता है। वे त्वचा के रंध्रों पर सूर्य की विकिरण के प्रभाव को कम करने के साधन के द्वारा एपिडर्मिस(बाहरी त्वचा) को बचाने में मदद करते हैं।
  • गेहूं का आटा त्वचा का कालापन रोखने में मदद करता है। गेहूं का आटा और पानी मिलाएं और एक पतली पेस्ट बनायें। गोलाकार गति में आपकी त्वचा पर पेस्ट रगड़ें। 15-20 मिनट के लिए इसे सूखने दें। सूखने पर ठंडे पानी के छोटे थपको से धीरे से मालिश करके धो लें। यह उपाय आपकी त्वचा को मुलायम, कोमल और निर्दोष कर देगा।
Show Buttons
Hide Buttons