लौकी से 5 दिन में 10 किलो वजन घटाएं | MyRichBeauty.com - Makeup And Beauty Care Blog, Skincare, Hair care And Health Care, weight loss And Cosmetic Hub

लौकी भारत में इस्तेमाल की जाने वाली एक मशहूर सब्जी हैयह सब्जी बोतल के आकार की होती है इसलिए इसे अंग्रेजी में Bottle gourd कहते हैं यह सब्जी स्वाद में तो अच्छी होती ही है साथ ही साथ स्वास्थ्य के लिए भी बहुत फायदेमंद है यह एक पौष्टिक पदार्थ है जो वजन कम करने में सहायक होती है आज के बारे में हम आपको जानकारी देंगे

नुस्खा :-

  • 1 मध्यम कद कि लौकी ,
  • 1-2 चम्मच शहद ,
  • 1 बड़ा चम्मच नींबू का रस,
  • बर्फ के क्यूब्स
  • पानी
  • ज्यूसर.

विधि :-

लौकी को अच्छे से धो कर छील लें लौकी को छोटे टुकड़ों में काट लें ताकि यह अच्छी तरह से घुल सक लौकी, शहद, नींबू का रस और पानी या बर्फ के टुकडों को ज्युसर में डालें और इसे अच्छी तरह मिक्स होने तक इसे चलाएँ आपका नींबू और शहद के साथ बना लौकी का रस पिने के लिए तैयार है. वजन घटाने में नींबू और शहद महत्वपूर्ण योगदान देते हैं यह लौकी के रस के पेट का मोटापा कम करने कि क्षमता को दोगुना कर देते है

वजन घटाने के लिए लौकी जूस का प्रयोग :-

वजन घटाने के लिए लौकी का इस्तेमाल तरल पदार्थ के रूप में किया करते हैं इसमें कई प्रकार के पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो स्वास्थ्य को ठीक रखते हैं मोटापा घटाने मेंलौकी का इस्तेमाल कैसे करते हैं आइए जानते हैं

  • 96% पानी से बनी लौकी में कैलोरी कि मात्रा बहुत कम होती हैं, जो कुशलतापूर्वक चरबी को कम करती है. इसीलिए इसे लगभग हर मोटापा घटाने वाली डाइट प्लान में लो कैलोरी पोषण आहार में शामिल किया जाता है.
  • लौकी में फाइबर कि मात्रा बहुत अधिक होती है जो लंबे समय तक आपके पेट को भरा रखती है, इस तरह यह आपकी बार–बार लगने वाली भूख को कम करती है. इसके अलावा यह बड़ी आंत में अच्छे बेक्टेरिया को तृप्त करने में मदद करती है, जो मोटापे को कम करने में और तंदुरुस्ती प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. लौकी में अघुलनशील फाइबर के साथ घुलनशील फाइबर है, जो पाचन तंत्र को सुधारने में मदद करता है.
  • लौकी प्रोटीन और अन्य पोषक तत्वों से बेहद भरपूर है जो मांसपेशियों के निर्माण और शरीर में चरबी को कम करने में सहायता करते हैं. इसके अलावा हम सभी जानते हैं कि प्रोटीन कि अच्छी मात्रा हमारी चयापचय कि क्रिया को बेहतर कर चरबी को जलाने में सहायता करती है.
  • पानी और फाइबर कि अधिक मात्रा के कारण लॉकी के ज्यूस में ऊर्जा का घनत्व बहुत कम होता है जो मोटापा कम करने में मदद करता है.
  • लौकी में कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है. इसमे एंटी ऑक्सीडेंट गुण होते है जो शरीर से हानिकारक विषैले पदार्थों को निकालकर शरीर के वजन का संतुलन बनाए रखने में मदद करते हैं.

लौकी ज्यूस के स्वास्थ्य संबन्धित फ़ायदे :-

  • लौकी का रस मूत्र प्रणाली और गुर्दे को साफ करने और स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है.
  • बालों के विकास में लौकी का रस बहुत उपयोगी होता है इसमें विटामिन बी जैसे आवश्यक पोषक तत्व शामिल होते हैं जो बालों को सफेद होने से रोकते है और बालों के विकास में भी कुशलता से मदद करते है.
  • बालों के साथ साथ लौकी का रस त्वचा के लिए भी फायदेमंद है. यह मुँहासे, किल और अन्य त्वचा के विकारों को रोकता है. यह समय से पहले उम्र को बढ़ने से भी रोकता है और झुर्रियों और रेखाओं के गठन को भी रोकता है.
  • लौकी का रस कब्ज का इलाज करता है और पाचन क्रिया को बेहतर बनाने में मदद करता है. इसमे घुलनशील और अघुलनशील दोनों तरह के फाइबर होते हैं, जो पाचन तंत्र से संबंधित सभी समस्याओं का इलाज करते हैं और उन्हें कुशलता से ठीक करते हैं. कब्ज के साथ यह दस्त का इलाज भी कुशलतापूर्वक करता है.
  • लौकी के पोषक तत्वों में कुछ महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं, उनमें से एक है कोलीन यह एक प्रकार का न्यूरोट्रांसमीटर है जो तनाव और अवसाद को रोकने में मदद करता है और इस प्रकार मानसिक स्वास्थ्य में सुधार लाता है.

लौकी के ज्यूस के दुष्प्रभाव :-

अगर लौकी का स्वाद कड़वा या कसैला हो तो इसका ज्यूस नहीं पीना चाहिए. इसमें एक उच्च विषाक्त घटक होता है जिसे टेट्रासायक्ट्रिक ट्राइटरपेनॉयड क्यूकर्बिटाइंस कहा जाता है जो उल्टी, मितली , दस्त या जठरांत्र संबंधी रक्तस्राव जैसे कई दुष्प्रभाव पैदा कर सकता है। कई गंभीर परिस्थितियों में, एक कड़वी लौकी ज़हर कि तरह काम करती है जी मौत का कारण भी बन सकती है.

नोट :-

  • लौकी का रस हररोज़ सुबह खाली पेट पीना चाहिए. यह मधुमेह का इलाज करने में मदद करता है. इसमे पानी की मात्रा अधिक होती है जो शरीर में पानी के स्तर को बहाल करने में मददकारक है.
  • कसरत या व्यायाम के बाद लौकी का ज्यूस पीने का अनुरोध किया जाता है. इसमे मौजूद प्राकृतिक शर्करा कसरत के दौरान शरीर में आई ग्लाइकोजन और कार्बोहाइड्रेट कि कमी को बहाल करने में मदद कारक है.
  • लौकी का रस गर्भावस्था के दौरान भी काफि फायदेमंद होता है. उच्च विटामिन और पानी की मात्रा कई शारीरिक लाभ देते है.

 

Show Buttons
Hide Buttons