नाशपति के लाभ | Myrichbeauty.com - Beauty Tips In Hindi

नाशपाती एक ऐसा फल है जिसके  स्वाद को सब जानते हैं पर उससे होने वाले फायदे उनके गुणों के बारे में बहुत ही कम लोग हैं जो जानते हैं आज इस आर्टिकल में हम आपके साथ आठ नाशपाती के गुणों के  बारे में बताएंगे किस फल में औषधीय गुण पाए जाते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छे होते हैं नाशपाती हमारे शरीर में पानी की कमी को दूर करता है और हमें मानसिक और शारीरिक रूप से फायदा दिलाता है यह फल हरे रंग का होता है और इसमें भारी मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो हमारी त्वचा  बाल और हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है

नुस्खा :-

  • एक नाशपाती
  • आधा चम्मच शहद
  • एक बड़ा चम्मच एलोवेरा जेल

विधि :-

नाशपाती को अच्छी तरह से हाथों से मसल कर उसमें शहद और एलोवेरा जल में मिलाएं और अपने चेहरे और गर्दन पर 20 से 25 मिनट तक लगा रहने दें यह मिश्रण आपकी त्वचा को तेल रहित बनाने में मदद करेगा

नाशपाती के फायदे :-

  • अगर आपको शरीर में अचानक ऊर्जा की कमी लग रही है और आपको थकावट महसूस हो रही है तो नाशापाती खाएं या नाशपाती का जूस पीएं। ये आपके शरीर में ग्लूकोज की मात्रा का बढ़ाकर आपकी थकावट को दूर कर देगा।
  • इंसान में आधी से ज्यादा बीमारी का कारण है शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी। नाशपाती आयरन का एक अच्छा स्त्रोत हैं जो शरीर में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाता है। इसलिए डॉक्टर एनीमिया के मरीजों को नाशपाती खाने की हिदायत देते हैं।
  • नाशपाती में मौजूद पोटैशियम और ग्लूटाथिओन ब्लड प्रेशर को संतुलित रखते हैँ। ये एंटीऑक्‍सीडेंट रक्तचाप को कम करने तथा दिल के दौरे और स्ट्रोक के खतरे को कम करने में मदद करते हैं।
  • नाशपाती का जूस रोज पीने से शरीर की पाचन क्रिया सही रहती है। नाशपाती में मौजूद फाइबर पाचन तंत्र को मजबूत बनाता हैं। इसमें मौजूद पेक्टिन कब्ज और दस्त को ठीक कर सकता है।
  • नाशपाती बोरोन का अच्छा स्रोत है। बोरोन हड्डियों में कैल्शियम को बनाए रखने में मदद करता है। इसलिए नाशपाती का सेवन करने से आस्टियोपोरोसिस होने का खतरा नहीं होता। साथ ही ये अन्य प्रकार के रोगों और दर्द को भी कम करता है।
  • बहुत से लोगों को उनकी किसी बीमारी की वजह से कुछ फल खाने की मनाही होती है। लेकिन नाशपाती एक ऐसा फल है जिसे हर कोई खा सकता है। इसे शिशु को प्यूरी बनाकर भी दिया जा सकता है। इसके अलावा, डायबिटीज़, मोटापा या अन्य जीवनशैली सी जुड़ी स्वास्थ्य समस्याओं से ग्रस्त लोगों के लिए नाशपाती अच्छा फल है। इसे खाने का सबसे अच्छा समय सुबह का होता है।’
  • नाशपाती में लेवलोज़ होता है। यह शुगर का एक प्राकृतिक रूप है जो कि बहुत स्वास्थ्यवर्धक होता है। जब कुछ मीठा खाने का मन होता है तो इसे खाया जा सकता है। टॉफी या कैंडी खाने की बजाय मीठे के लिए नाशपाती खाना बहुत अच्छा होता है। ये आपका ब्लड शुगर लेवल नहीं बढ़ाता।
  • गर्भावस्था के समय महिलाओं को अपने और अपने बच्‍चे के स्‍वास्‍थ के लिए जरूरी आहार लेना आवश्‍यक हो जाता है, ऐसे में नाशपाती एक अच्‍छा विकल्‍प होता है। गर्भावस्था के समय नाशपाती का नियमित सेवन करने से स्‍तनपान के समय आने वाली परेशानियों से बचा जा सकता है। इसमें कई ऐसे पोषक तत्‍व है जो बच्‍चों के समग्र विकास के लिए आवश्यक है जो मां और बच्चे दोनों को पर्याप्त ऊर्जा उपलब्ध कराते है। नाशपाती में फोलिक एसिड पाया जाता है जो न्‍यूरल टयृब जैसे दोषों को दूर करता है
  • मुँहासे एक सुंदर चेहरे को किस प्रकार से प्रभावित कर सकता है यह आप जानते ही है। नाशपाती का उपयोग करके आप इनसे छुटकारा पा सकते है। नाशपाती में उच्च श्रेणी के विटामिन और खनिज उपलब्‍ध होते है जो त्‍वचा में उपस्थित ऐसिड को नष्‍ट करने और त्‍वचा के पीएच संतुलन बनाने का कार्य करते है। नाशपती का जूस शरीरी में मौजूद बैक्‍टीरिया को नष्‍ट करने में मदद करता है। और प्रोटीन और वसा के पाचन में सहायता करता है इससे शरीर को शुद्ध करने में मदद मिलती है और विषाक्‍त पदार्थो के निर्माण को रोकने में भी मदद मिलती है
  • नाशपाती उन व्यक्तियों के लिए लाभकारी फल है जो पेट होने वाली पथरी के रोग से पीडित है। कैल्शियम ऑकसलेट गुर्दा के पत्‍थरों को विकसित करता है ऐसी स्‍थती में नाशपाती के पाऐ जाने वाला मैलिक ऐसिड गैस्‍ट्रोथोन को रोकने में मदद करता है, जिससे पित्‍ताशय में बनी पथरी मैलिक ऐसिड से धीरे-धीरे घुलने लगती है। इसलिए पथरी से ग्रसित व्यक्ति को उन खाद्य पदार्थो से बचना चाजिए जिनमें ऑकसलेट बहुत अधिक मात्रा में हो। आप गुर्दे की पथरी के लिए नाशपाती का उपयोग कर सकते है क्‍योंकि इसमें ऑक्‍सलेट की मात्रा बहुत कम होती है।
  • नाशपाती उन व्यक्तियों के लिए लाभकारी फल है जो पेट होने वाली पथरी के रोग से पीडित है। कैल्शियम ऑकसलेट गुर्दा के पत्‍थरों को विकसित करता है ऐसी स्‍थती में नाशपाती के पाऐ जाने वाला मैलिक ऐसिड गैस्‍ट्रोथोन को रोकने में मदद करता है, जिससे पित्‍ताशय में बनी पथरी मैलिक ऐसिड से धीरे-धीरे घुलने लगती है। इसलिए पथरी से ग्रसित व्यक्ति को उन खाद्य पदार्थो से बचना चाजिए जिनमें ऑकसलेट बहुत अधिक मात्रा में हो। आप गुर्दे की पथरी के लिए नाशपाती का उपयोग कर सकते है क्‍योंकि इसमें ऑक्‍सलेट की मात्रा बहुत कम होती है।
  • जब भी बालों के पोषण की बात आती है तो नाशपाती को छोड़ा नही जा सकता। नाशपाती स्‍वस्‍थ्‍य और पोषित बालों को बनाने की क्षमता रखता है। क्‍योंकि नाशपाती में ‘शर्बिटोल’ या ‘ग्‍लूसिटोल’ नामक एक प्राकृतिक एलकोहल पाया जाता है जो बालों की जड़ो में जाकर बालों को मजबूत करता है और इन्‍हें स्‍वस्‍थ रखता है। यदि आप के बालों से चमक जा चुकी है तो आप चिंतित ना हो नाशपाती आपके बालों की चमक बापस लाने में आपकी मदद करेगा, आपको सिर्फ एक पका हुआ नाशपाती, सेब का सिरका और दो बडे चम्‍मच पानी को मिलाकर अपने बालों में लगाना है जिससे आपके बालों में नई चमक आ जाएगी
Show Buttons
Hide Buttons